20 July 2024

देहरादून में अब पशुपालकों को नहीं काटने पड़ेंगे प्राइवेट हॉस्पिटलों के चक्कर, पशुपालन विभाग ने दिया बड़ा तोहफा

0

जनपद देहरादून उत्तराखण्ड में राज्य सेक्टर योजना अन्तर्गत रु 493.81 लाख की लागत हे ट्रांसपोर्ट नगर में राजकीय पशु चिकित्सालय सदर (स्टेट- रैफरल सेन्टर श्वान एवं बिल्ली) देहरादून के नवनिर्मित काम्प्लेक्स का लोकापर्ण पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगुणा ने किया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये सौरभ बहुगुणा ने कहा कि 2019 की पशुगणना के अनुसार देहरादून में आवारा पशुओं की संख्या 15690 एंव पशु प्रेमियों द्वारा पाले जा रहे श्वान पशुओं की संख्या 53760 है। इसके अतिरिक्त बिल्लियों एंव अन्य पालतू पशु हैं तथा इन छोटे पशुओं हेतु परामर्शकीय एंव विशिष्ट चिकित्सकीय सेवाओं की मांग लगातार बढ़ती जा रही है, जिसके लिए वर्तमान में विशिवर सेवाओं अल्ट्रासांउंड, एक्स रे, शल्य चिकित्सा आदि के लिये वर्तमान में प्राइवेट संस्थानों द्वारा जो चिकित्सा प्रदान की जाती है वो आम पशुपालकों की पहुंच से बाहर है। इस लिये उच्च गुणवत्ता की पशुस्वास्थ्य सेवायें प्रदान करने के लिये उत्तराखण्ड सरकार द्वारा नया आधुनिक पशु चिकित्सालय एंव रेफरल सेन्टर का निर्माण कराया गया है। इस केन्द्र में पशुओं की पैथोलाजी, टीकाकरण, शल्य चिकित्सा, अल्ट्रासाउंड, एंव एक्स रे इत्यादि की व्यवस्था की गई है। यह केन्द्र 24×7 (चौबीस घंटे) तीन पालियों में संचालित किये जाने की व्यवस्था की गई है।

ये भी पढ़ें:   मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ली कैबिनेट बैठक, बैठक में कई अहम फैसलों पर लगी मोहर

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे बीजेपी विधायक विनोद चमोली ने विधान सभा क्षेत्र धर्मपुर अन्तर्गत स्टेट नेफरल टैन्टर खोलने जाने पर सरकार एंव मन्त्री पशुपालन का आभार व्यक्त किया उन्होंने कहा कि इस केन्द्र के खुलने से नगर निगम क्षेत्र के साथ आस पास के क्षेत्रों, डोईवाला, मसूरी, रायपुर, सहसपुर आदि क्षेत्रों के श्वान एंव बिल्ली का इजाज हो पाएगा।

ये भी पढ़ें:   एक ऐसी फिल्म जो उत्तराखंड की सिनेमा को देगी अलग पहचान, पहली गढवाली सुपर नेचुरल थ्रिलर फिल्म हुई रिलीज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *