20 July 2024

मरे हुए बच्चे को हर की पैड़ी में लगाई डुबकी, आम लोगों ने पकड़ कर कर दी पिटाई

0

 

मां-बाप के लिए उसकी संतान सब कुछ होती है मगर जब उस संतान को खोने का डर हो तो मां-बाप उसके लिए सब कुछ करने के लिए तैयार हो जाते हैं। ऐसे ही एक मामला धर्मनगरी हरिद्वार में देखने को मिला जब एक मां-बाप ने अपने ब्लड कैंसर से पीड़ित 7 साल में बेटे को बचाने के लिए धर्म नगरी हरिद्वार हर की पौड़ी पहुंचे, मां-बाप को यकीन था की मां गंगा में डुबकी लगाने के बाद उनके जिगर के टुकड़े को नया जीवन मिलेगा, मगर ऐसा हो ना सका

 

दिल्ली सोनिया विहार निवासी राजकुमार सैनी अपनी पत्नी के साथ हरिद्वार हर की पौड़ी पर ब्लड कैंसर से पीड़ित अपने 7 साल के बेटे रवि को गंगा स्नान कराने पहुंचा था। रवि का इलाज दिल्ली के गंगाराम हॉस्पिटल में चल रहा था मगर डॉक्टरों के जवाब देने के बाद भी रवि के मां-बाप अपने बेटे को खोना नहीं चाहते थे। इसी कारण रवि की मौसी के कहने पर रवि को हरिद्वार स्नान कराने पहुंचे मगर रास्ते में ही रवि की मौत हो गई। उसके बावजूद भी अपने बेटे को वह गंगा स्नान कराने हर की पौड़ी पहुंचे, 5 मिनट तक मां बाप ने बच्चे को गंगा में डुबकी लगाकर रखा, जब समय बहुत ज्यादा हो गया और बच्चे को गंगा से बाहर ही नही निकला जा रहा तब वहां मौजूद लोगों को आभास हुआ की बच्चों को गंगा में डुबोकर मार दिया है।

ये भी पढ़ें:   मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ली कैबिनेट बैठक, बैठक में कई अहम फैसलों पर लगी मोहर

देखते ही देखते वहां भारी संख्या में लोग इकट्ठा हो गए और रवि के मां-बाप की पिटाई कर दी और मौके पर पुलिस को बुलाया पुलिस द्वारा मां-बाप को गिरफ्तार किया गया और उनसे पूछताछ की गई तो सारा मामला सामने आया।

 

हरिद्वार एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार का कहना है कि दिल्ली निवासी राजकुमार सैनी अपनी पत्नी के साथ अपने 7 वर्षी बेटे को गंगा स्नान करने हरिद्वार आए थे उनके साथ उनकी एक परिजन भी थी प्रथम दृश्य जांच में पता चला है कि उनके बेटे को ब्लड कैंसर था उसका इलाज दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में किया जा रहा था। मगर डॉक्टर ने जवाब दे दिया था, वहीं इनको विश्वास था की गंगा में डुबकी लगाने के बाद उनके बेटी की जान बच सकती है। पूछताछ में उनके ड्राइवर द्वारा बताया गया कि रास्ते में ही उनके बेटे की मौत हो गई थी मगर उसके बावजूद भी उनके द्वारा अपने बेटे को स्नान कराया गया। हर की पौड़ी पर मौजूद लोगों द्वारा इन्हें पकड़ा मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्चों को अस्पताल भेजा तो पता चला कि बच्चे की मौत हो गई है। हमारे द्वारा इस मामले में जांच की जा रही है उसके बाद ही कोई कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें:   एक ऐसी फिल्म जो उत्तराखंड की सिनेमा को देगी अलग पहचान, पहली गढवाली सुपर नेचुरल थ्रिलर फिल्म हुई रिलीज

स्वतंत्र कुमार–एसपी सिटी हरिद्वार

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *