20 July 2024

विश्व एंटीमाईक्रोबियल जागरूकता सप्ताह के अवसर एस.जी.आर.आर. विश्वविद्यालय में कार्यक्रम

0

देहरादून।

श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ पैरामेडिकल एण्ड एलाईड हैल्थ साइंसेज के माइक्रोबायोलॉजी एवम् मेडिकल लैब टैक्नोलॉजी विभाग के द्वारा विश्व एंटीमाईक्रोबियल जागरूकता सप्ताह (18 नवंबर 2023 से 24 नवंबर 2023) के उपलक्ष्य में पूरे सप्ताह विभिन्न ज्ञानवर्धक व सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस बार विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लयू.एच.ओ.) द्वारा विश्व माइक्रोबियल जागरूकता सप्ताह की थीम ‘प्रिवेंटिग एंटीमाइक्रोबियल रैजिसटैंस टूगेदर‘ थी। पूरे सप्ताह स्कूल ऑफ पैरामेडिकल एण्ड एलाईड हैल्थ सांइसेज के छात्र-छात्राओं हेतु एंटीमाईक्रोबियल रैजिजटैंस विषय पर पोस्टर प्रतियोगिता साइंटिफिक रंगोली प्रतियोगिता, प्रश्नोत्तरी , वाद-विवाद आदि ज्ञानवर्धक र्स्पधाओं का आयोजन किया गया। इन सभी प्रतियोगिताओं में छात्र-छात्राओं ने बडे उत्साह से प्रतिभाग किया। 24 नवंबर 2023 (शुक्रवार) कोे जागरूकता सप्ताह के समापन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। समापन समारोह का शुभारंभ कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री गुरु राम राय विश्वविद्यायल के समन्वयक डॉ. आर.पी.सिंह, आई.क्यू.ए.सी. निदेशक डॉ. सुमन विज व डीन स्कूल ऑफ पैरामेडिकल एण्ड एलाईड हैल्थ सांइसेज, डॉ.कीर्ति सिंह के द्वारा सयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलन कर किया गया। इसके उपरांत छात्र-छात्राओं द्वारा विद्या की देवी माँ सरस्वती की वंदना की गई जिसने वातावरण को भक्तिमय बना दिया। डीन स्कूल ऑफ पैरामेडिकल एण्ड एलाईड हैल्थ साइंसेज डॉ कीर्ति सिंह ने मुख्य अतिथि डॉ आर.पी.सिंह को पौधा भेंट कर उनका अभिवादन किया। मुख्य अतिथि डॉ. आर.पी.सिंह ने अपने सम्बोधन में विश्व एंटीमाइक्रोबियल जागरूकता सप्ताह के सफल आयोजन के लिए स्कूल ऑफ पैरामेडिकल एण्ड एलाईड हैल्थ साइंसेज को बधाई दी। उन्होने कहा कि इस प्रकार के अयोजन छात्र-छात्राओ को मेडिकल विषयों पर ज्ञानवर्धक कर उन्हे बेहतर मेडिकल प्रोफेशनल बनने मे मदद करते है। श्री मंहत इन्दिरेश अस्पताल की सैन्ट्रल लैब डायरेक्टर डॉ. डिम्पल रैना द्वारा रिरेशनल यूज ऑफ एंटीबायोटिक्स (एंटीबायोटिक दवाओं के गलत सेवन) विषय पर व्याख्यान दिया। उन्होने अपने व्याख्यान में छात्र-छात्राओं को एंटीबायोटिक दवाओं के गलत इस्तेमाल के होने वाली हानियों व उनके रोकथाम के विषय में विस्तृत रूप से समझाया। उन्होनें व्यावाहरिक उदाहरणांे सहित एंटीबायोटिक दवाओं के सही इस्तेमाल पर ज्ञानवर्धन किया। इसके उपरांत छात्र-छात्राओं ने उत्तराख्ंाडी, हिमाचली व पंजाबी गीतों पर गायन करके वातावरण को संगीतमय बना दिया। देर शाम तक छात्र-छात्राएं गीत- संगीत की मधुर धुनों पर थिरकते रहे। प्रतियोगिताओं के विजेताओ को प्रमाणपत्र व पुरस्कार देकर सम्मनित किया गया। कार्यक्रम की संयोजक डीन डॉ. कीर्ति सिंह, सह संयोजक डॉ. नेहा चौहान व आयोजन सचिव नेहा ध्यानी थे। कार्यक्रम को सफल बनाने मे स्कूल ऑफ पैरामेडिकल एण्ड एलाईड हैल्थ साइंसेज के फैकल्टी सदस्यो व छा़त्र-छात्राओ का भी विशेष योगदान रहा। धन्यवाद ज्ञापन डॉ. नेहा चौहान द्वारा दिया गया। यह रहे विजेता पोस्टर प्रतियोगिता- साक्षी उनियाल (बी.एम.एल.टी. तृतीय वर्ष) व अल्पा भट्ट (बी.एम.एम. तृतीय वर्ष)साइंटिफिक रंगोली प्रतियोगिता- आकांक्षा, तन्नु रावत, हंसा रावत (सभी बी.एम.एल.टी. तृतीय वर्ष) साइंस मॉडल प्रतियोगिता- वजीहा, जोया, आस्था (सभी बी.पी.टी. तृतीय वर्ष) प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता- पल्लवी, साक्षी, ज्योति, अल्पा, अनीका व सूर्यांश (सभी बी.एम.एम. व बी.एम.एल.टी. से )वाद-विवाद प्रतियोगिता- गौरी व साक्षी

ये भी पढ़ें:   एक ऐसी फिल्म जो उत्तराखंड की सिनेमा को देगी अलग पहचान, पहली गढवाली सुपर नेचुरल थ्रिलर फिल्म हुई रिलीज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *