20 July 2024

नई शिक्षा नीति के तहत चलेंगे आंगनबाड़ी केंद्र, होंगे उच्चीकृत। खुलेंगी हजारों भर्तियां

0

 

प्रदेश में शत प्रतिशत मिनी आंगनबाड़ी केंद्रों के उच्चीकरण को मिली स्वीकृति, आंगनबाड़ी केंद्रों के उच्चीकरण से आंगनवाड़ी बहने होगीं सशक्त।

प्रदेश भर में हजारों की संख्या में आंगनबाड़ी केंद्र संचालित किया जा रहे हैं लेकिन उनमें से कई आंगनबाड़ी केंद्र ऐसे हैं जो की प्राइवेट भवनों में चल रहे हैं साथ ही हजारों आंगनबाड़ी केंद्र ऐसे हैं जहां पर सिर्फ एक आंगनबाड़ी कार्यकत्री ही है।

वहीं अब विभाग ने एक बहुत बड़ा फैसला लिया है और विभाग ने 5115 आंगनबाड़ी केदो को उच्चीकृत करने की दिशा में कदम आगे बढ़ा दिए हैं। इसके लिए बाकायदा नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया गया है जिसमें बताया गया है कि प्रदेश भर में संचालित हो रहे 5115 मिनी आंगनवाड़ी केंद्रों को मैन आंगनबाड़ी केंद्रों में बदला जा रहा है।

ये भी पढ़ें:   एक ऐसी फिल्म जो उत्तराखंड की सिनेमा को देगी अलग पहचान, पहली गढवाली सुपर नेचुरल थ्रिलर फिल्म हुई रिलीज

 

इस समय पूरे उत्तराखंड में 20067 आंगनबाड़ी केंद्र संचालित किए जा रहे हैं, जिनमें से अब 5115 मिनी आंगनबाड़ी केंद्रों को मैन आंगनबाड़ी केंद्रों में बदलने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। 

मिनी आंगनवाड़ी केंद्रों के कॉन्सेप्ट को भारत सरकार खत्म करने की दिशा में आगे बढ़ रही है, और उनकी जगह मैन आंगनबाड़ी केंद्रों को संचालित किया जाएगा। इस समय मिनी आंगनबाड़ी केंद्र में एक कार्यकत्री होती है और उसके ऊपर कई सारी जिम्मेदारियां होती है। ऐसे में पठन-पाठन की प्रक्रिया मिनी आंगनवाड़ी केंद्रों में बच्चों को नहीं कराई जा पा रही है और ये विषय लगातार अधिकारियों के सामने आ रही थी। जिसके बाद अब जो नए रूप में आंगनबाड़ी केंद्र संचालित होंगे उनमें एक कार्यकत्री की जगह 2 होंगी। उसमे से भी एक कार्यकत्री को सिर्फ बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाने के मकसद से रखा जाएगा।

ये भी पढ़ें:   मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ली कैबिनेट बैठक, बैठक में कई अहम फैसलों पर लगी मोहर

प्रदेश में आने वालों दिनों में जो भी आंगनबाड़ी केंद्र संचालित किए जाएंगे वह सभी नई शिक्षा नीति के तहत संचालित किए जाएंगे नई शिक्षा नीति के तहत आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों को पठन-पाठन भी करवाया जाएगा ताकि जब बच्चा पहली कक्षा में प्रवेश करें तो उसे उस स्तर का नॉलेज प्राप्त हो।

दूसरी तरफ महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग जल्द ही प्रदेश भर में संचालित हो रहे आंगनबाड़ी केंद्रों को खुद का भवन देने की तैयारी भी कर रहा है उम्मीद है धीरे-धीरे प्रदेश भर में संचालित हो रहे आंगनबाड़ी केंद्रों को उनका खुद का भवन भी मिल जाएगा।

 

ये भी पढ़ें:   एक ऐसी फिल्म जो उत्तराखंड की सिनेमा को देगी अलग पहचान, पहली गढवाली सुपर नेचुरल थ्रिलर फिल्म हुई रिलीज

कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य ने कहा की प्रभु श्रीराम के अयोध्या आगमन के साथ ही मिनी आंगनबाड़ी केंद्रों का उच्चीकरण होना राज्य के लिए है गौरव की बात है।

आंगनबाड़ी बहने है विभाग की ताकत,सरकार और विभाग लगातार कर रहा आंगनबाड़ी बहनों को सशक्त करने का काम-रेखा आर्या

जो कहा वह किया,मिनी आंगनबाड़ी केंद्रों के उच्चीकरण होने से बहने बनेगी आत्मनिर्भर-रेखा आर्या

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *